समान परीक्षा व्यवस्था समिति, हनुमानगढ़
spvshanumangarh@gmail.com
01552-231739



परीक्षा के सामान्य नियम

परीक्षा के लिए विशेष दिशा-निर्देश


प्रश्न पत्रों की सुरक्षा एवं परीक्षा संचालन के सम्बन्ध में सभी संस्था प्रधानों को विशेष सतर्कता बरतने हेतु निम्नानुसार निर्देश दिए जाते है-

  1. प्रश्न पत्र लोहे की मजबूत अलमारी जिसके दो ताले हो, में रखे जावें। अलमारी के एक ताले की दोनों चाबियाँ संस्था प्रधान के पास तथा दूसरे ताले की दोनों चाबियाँ परीक्षा प्रभारी के पास सुरक्षित रहनी चाहिए। अलमारी के ताले बन्द करने के अलावा अलमारी पर कागज की सील भी लगाई जानी चाहिए। अलमारी खोलने व बन्द करने का पूर्ण अभिलेख रखा जाना चाहिए जिसमें अलमारी खोलने का समय, खोलने का कारण, जिनके समक्ष खोली गई उन साक्षियों के नाम व हस्ताक्षर आदि का पूर्ण विवरण होना चाहिए। इस अभिलेख का कभी भी निरीक्षण किया जा सकता है।
  2. प्रश्न पत्र ऐसे कक्ष में रखे जाएं जिसके सभी दरवाजे व खिड़कियाँ मजबूत हों।
  3. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, राजस्थान, अजमेर की परीक्षाओं की भाँति ही प्रश्न पत्रों एवं लिफाफों का पूर्ण लेखा एक रजिस्टर में रखा जावे। इस रजिस्टर का भी अवलोकन किया जावेगा।
  4. प्रश्न पत्रों को परीक्षा कार्यक्रमानुसार अलमारी में व्यवस्थित करके रखा जाए तथा रखने से पूर्व लिफाफों पर परीक्षा कार्यक्रम को देखकर सही तिथि और वार की प्रविष्टियां कर ली जावें।
  5. प्रश्न पत्रों की सुरक्षा हेतु विद्यालय में हर समय चैकीदार अथवा किसी अन्य कर्मचारी की व्यवस्था अनिवार्यतः की जावें।
  6. प्रश्न पत्रों का लिफाफा खोलने से पूर्व संस्था प्रधान स्वयं परीक्षा कार्यक्रम से मिलान कर लेवंे तथा तीन अन्य वीक्षकों से भी मिलान करवा लिया जाए उसके पश्चात ही लिफाफा काटा जावे।
  7. लिफाफा खोलने के पश्चात परीक्षा कार्यक्रम को देखकर यह सुनिश्चित कर लेवें कि प्रश्न पत्र उसी विषय व पत्र के लिए है जिसकी परीक्षा होनी है। किसी अन्य कक्षा, विषय अथवा प्रश्न पत्र निकलने की स्थिति में ऐसे प्रश्न पत्रों को तुरन्त सील बन्द कर रख लिया जावे और उसकी सूचना तुरन्त संयोजक समान परीक्षा व्यवस्था समिति (माध्यमिक) हनुमानगढ़ को दी जावे। ऐसे प्रश्न पत्रों को किसी भी परिस्थिति में छात्रों को वितरित नहीं किया जावे।
  8. प्रश्न पत्रों में किसी भी परिस्थिति में न तो कोई प्रश्न कटवाया जावे और न ही जुडवाया जावे।
  9. सभी संस्था प्रधान परीक्षा समाप्ति के एक सप्ताह के भीतर प्रश्नों के स्तर, प्रश्नों की पूर्णता, गुणवत्ता, पाठ्यक्रम, मुद्रण सम्बन्धित कमियां, त्रुटियां, पैकिंग तथा संख्यात्मक कमी बेशी का विस्तृत विवरण संयोजक समान परीक्षा व्यवस्था समिति (माध्यमिक) हनुमानगढ़ को पे्रषित करें।
  10. प्रश्न पत्र का बण्डल लेने के पश्चात प्रश्न पत्रों के लिफाफे व प्रश्न पत्रों की संख्या का मिलान कर लेवें। लिफाफों की स्थिति को भी जांच लेवें। किसी भी कमीबेशी की स्थिति में तुरन्त संयोजक को अवगत करावें। प्रश्न पत्र प्राष्ति की रसीद भर कर दें।
  11. निर्धारित परीक्षा अवधि से पूर्व किसी भी परीक्षार्थी को न छोड़ा जावे। विलम्ब से आने वाले परीक्षार्थी को परीक्षा आरम्भ से आधे घण्टे तक केन्द्राधीक्षक के विवेकानुनसार परीक्षा में सम्मिलित होने की अनुमति दी जा सकेगी, परन्तु उसे अतिरिक्त समय नहीं दिया जावे।
  12. परीक्षा काल में संस्था प्रधान जिला शिक्षा अधिकारी की पूर्व अनुमति के बिना मुख्यावास नहीं छोड़ेगे तथा किसी प्रकार के अवकाश पर नहीं रहेंगे।
  13. जांच कार्य विद्यालय में ही संस्था प्रधान अपनी सघन निगरानी में करवाएं।
  14. सभी विद्यालयों के परीक्षा-जांच कार्य की नमूना जांच की जावेगी। जांच कर्य में कमी पए जाने पर संस्था प्रधान को व्यवक्तिगत रूप से दोषी माना जावेगा।
  15. परीक्षा परिणाम अनुमोदन से पूर्व टी.सी. जारी नहीं करें।
  16. परीक्षा परिणाम 29.04.2010 तक घोषित कर सम्बन्धित अनुमोदनकर्ता अधिकारी को उसी दिन अनुमोदन हेतु भिजवा दें।
  17. उपर्युक्त सभी निर्देशों की पालना सुनिश्चित करें। समान परीक्षा व्यवस्था समिति द्वारा आकस्मिक निरीक्षण किया जाएगा। जिसमें विद्यालयों में उपर्युक्त कार्यों के अलावा परीक्षा संचालन सम्बन्धित समस्त व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया जाएगा।